प्रधानाचार्य की कलम से ,

दीवान बहादुर कामेष्वर नारायण महाविद्यालय, नरहन (समस्तीपुर) में नये सत्र के आगत छात्र-छात्राओं का हार्दिक स्वागत।  मेरी कामना है कि छात्र एवं छात्राओं अपने व्यवहार, आचार-विचार, चरित्र एवं अनुषासन के द्वारा इस संस्था का गौरवान्वित करेगें । आप सब देष के आदर्ष नागरिक बनें, आचरण से षिश्ट-विषिश्ट बनें एवं मानसा-बाचा-कर्मणा से सर्वांगींण विकास तथा समुचित षिक्षा-दीक्षा से अपने परिवार, समाज एवं अपने राश्ट्र के प्रति अपने दायित्व के निर्वाह में तन-मन-धन से समर्पित हों ।
    महाविद्यालय आप सबों का समुचित षिक्षा प्रदान करने हेतु सर्वोत्तम वातावरण प्रदान करने हेतु तत्पर रहेगा एवं आपसे यह पूर्ण आषा रखता है कि अध्ययन काल में पूर्ण निश्ठा से महाविद्यालय को षिक्षा का मंदिर समझ कर इसकी उन्नति में भरपूर योगदान देंगें एवं इसकी मार्यादा की रक्षा हेतु हमेषा सजग एवं सावधान रहेगें ।
महाविद्यालय में कला, विज्ञान, वाणिज्य एवं षिक्षा विभाग के सभी षिक्षकगण, षिक्षकेत्तर कर्मचारीगण आपकी सहायता हेतु हमेषा उपलब्ध रहेगें ।

                                                                   इन्हीं षुभकामनाओं के साथ
                      

                                                                                                                                                              डाॅ0 बीरेन्द्र कुमार झा